shanivar ko janme vyakti ka bhavishya


हमारे जीवन में जिस तरह से नंबरों का प्रभाव पड़ता है ठीक उसी तरह से दिनों का भी असर जीवन और व्यक्तित्व पर होता है। हर दिन के कुछ विशेष गुण या प्रभाव उस दिन जन्म लेने वाले जातको में दिखाई देते हैं
ज्योतिष में बताया है की यदि किसी व्यक्ति का जन्म जिस वार  होता है उस वार के कारक ग्रह उस व्यक्ति के स्वभाव और भविष्य पर प्रभाव डालते है , और यह प्रभाव जीवनभर रहता है। शनिवार को जन्मे जातक थोड़ा मुड़ी  , और चिड़चिड़े  स्वभाव के होते हैं,


 ये सामान्य कद काठी के होते हैं।  इस दिन जन्मे लोग अपनी मेहनत और लगन से पूर्ण शिक्षा प्राप्त करते हैं  ये दूसरो की सेवा करने वाले होते हैं,  । इनके जीवन में कितने ही कष्ट क्यों न आएं, अपने हंसमुख स्वभाव के कारण ये लोग विचलित नहीं होते हैं। क्योंकि शनि का आशीर्वाद इन पर हमेशा रहता है।

शनिवार के दिन जन्मे जातकों के अंदर यह क्षमता होती है  ,की ये लोग  हर कार्य को बहुत जल्दी सीख लेते है , उन्हें जिस क्षेत्र में कार्य करने का अवसर मिलता है उसी में ये दक्ष हो जाते है , और उसे अच्छे से करते हे शनिवार के दिन जन्में जातक धोखेबाज नहीं होते, परंतु ये प्रेम प्रदर्शन भी नहीं करते,
शनिवार को जन्मे लोगो का लकी नंबर 3,6,9 लकी कलर – लाल और काला,लकी डे – शनिवार और मंगलवार

शनिवार को जन्मे जातक अगर अपने गुस्से पर काबू करना सिख ले तो इनसे बेहतर इंसान कोई नहीं होगा, जिन जातकों का शनिवार के दिन जन्म होता है वे जातक अंतर्मुखी प्रतिभा के धनी होते है। ये शांत होते है इनको क्रोध देर से आता है और देर से क्रोध शांत होता है। शनिवार के दिन जन्मे जातक योग्य होते हुये भी मान सम्मान कम पाते है।


गरीब या दूसरे धर्म के लोगों की सेवा करने वाले होते है। ये मेहनती  होते है परंतु इन्हे सफलता देर से प्राप्त होती है।इस दिन जन्मे जातक दिखावे से दूर भागते है। एकांतप्रिय, प्रकृतिप्रेमी, होते है।  ये जातक समाज सुधारक दूसरों के लिये अवाज उठाने वाले और इनके जीवन कई दुःख आते है । शुरुआती जीवन में  अनेक कष्ट प्राप्त करते है। लेकिन वृद्धावस्था में सुखी रहते है  , इन जातकों की शिक्षा में अनेक बाधायें आती है।

इस दिन जन्म लेने वाले जातकों को अनेक प्रकार के रोग दोष होते है। हड्डी रोग, गठिया, पथरी, जोडों का दर्द, शारीरिक कमजोरी, सूखा रोग, शनिवार के दिन जन्म लेने वाले जातकों को कमर या पीठ दर्द व पांव से सम्बंधित रोग हो सकते हैं। आंखों के धब्बे व गड्ढे से सम्बंधित, कर्ण रोग होते है।


 शनिवार के दिन जन्म लेने वाले जातकों के अंदर यह क्षमता होती है की उन्हे जिस क्षेत्र में कार्य करने का अवसर प्राप्त होता है उसी में ये दक्ष हो जाते है। वैसे इनके कार्य के मुख्य क्षेत्र विज्ञान, टेक्निकल, कृषि, वाहन सम्बन्धी, भूगोलविद, पुरातत्व के जानकार, जज, आईटी फील्ड, जासूस या गुप्त विभाग, पत्थर लकडी से सम्बंधित काम करता है।


 इस दिन जन्म लेने वाले जातक भोले नाथ के उपासक होते है। इन्हे महालक्ष्मी का पूजन हमेशा करना चाहिये। इन्हे अपने को हमेशा फैशन से जोडकर रखना चाहिए।


फ्रेंड्स  अगर  आपको  हमारा  वीडियो  पसंद  ए  तो  प्लीज  हमारे चैनल  को सब्सक्राइब करें और साथ में घंटी बाले निशान पर क्लिक करें

Post a Comment

Previous Post Next Post