-->

भारत के बाद Hong Kong और America में भी TIK TOK पर प्रतिबंध





पिछले कुछ वर्षों में चीन की सॉशल मीडिया सॉफ्टवेयर app टिकटोक पूरी दुनिया के लोगो को अपने जाल में फ़साने में कामयाब होने के बाद अपने ,अस्तित्व से लड़ने की कोशिश कर रही है , भारत के बाद अनेक देशो में अब विचार किया जा रहा हैक्या टिक टोक जैसी , आप उनकी प्राइवेसी के लिए खतरा तो नहीं . हांगकांग से अब खबरे आ रही है की बहुत जल्दी टिक टोक को देश से बहार का रास्ता दिखा दिया जायेगा .


tiktok banned


सूत्रों से पता चला है की , टिकटोक पर अश्लीलता फ़ैलाने के गंभीर आरोप लगे है. तीन साल में चीन से निकल कर पूरी दुनिया में फैल गया और उनके जीवन और दिलो दिमाग पर अपना कब्ज़ा करने के बाद कई कुरीतिओं को जनम देने लगा , फेसबुक, व्हाट्सप्प, ट्विटर जैसे दिगज को भी टिकटोक के कारन काफी नीचे तक पिछड़ना पड़ा था,


हालाँकि टिकटोक का जनम चीन में 20 सितम्बर 2016 में हुआ था तब उसका नाम dayin रखा गया था जिसका उदेश्य लघु वीडियो बनाकर लोगो का मनोरंजन करना होता था ,बाद में लोग इसके साथ जुड़ते गए . विदेशों में इसके प्रसार के लिए इसका विदेशी नाम टिकटोक रखा गया .


उसके बाद तो जैसे बिगबैंग का विस्फोट हो गया . पूरी दुनिया में करोड़ों लोग इसमें लघु वीडियो बनाते अपना हुनर दिखाते थे .तब तक कोई नहीं जनता था ये चीन की कंपनय उनके निजी डाटा को चुरा भी सकती है .


लेकिन 2018 में ही हमने एक पोस्ट लिखी थी जिसमे बताया गया था की किस तरह , से ये android apps  और सॉफ्टवेयर आपके और देश की निजी और गोपनीय जानकारिया चुराते हैं . उस समय लोगो ने हमारी बात को पसंद नहीं किया . वो दौर था जब फेसबुक पर आरोप लगे थे उपयोग कर्ताओं की निजी जानकारिया विदेशी कोम्पनिओ को बेचने के .अगर अपने वो पोस्ट नहीं पड़ी तो ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक कर के उस पोस्ट को जरूर पड़ें .


भारत के लोग बहुत भोले भाले है ,समय की कदर नहीं करते इस लिए 2019 में केवल भारत में ही टिकटोक को 20,91,74,15,000 बार डाउनलोड किया गया . परन्तु राष्ट्रिय सुरक्षा के मद्दे नज़र रखते हुए भारत सरकार ने टिक टोक पर हमेशा के लिए प्रतिवंध लगा दिया.जिस से टिकटोक को केवल भारत से 6 बिलियन डॉलर का नुक्सान हुआ ( लगभग 390,00,00,00,000 रुपय )


2019 में टिकटोक उपयोगकर्ताओं की संख्या में जादुई रूप से वृद्धि हुई है। इस वर्ष वैश्विक डाउनलोड 1.5 बिलियन से अधिक हो गए हैं। डाटा से पता चला है जनुअरी 2020 से मई 2020 तक दुनिया भर में टिटक को २ बीलों से अधिक बार डाउनलोड किया गया 


होन्ग कोंग के बाद अमेरिका में भी टिकटोक पर प्रतिवंध लगाने पर विचार किया जा रहा है ,डेट से पता चलता है अकेले अमेरिका में ही टिकटोक के 165 मिलियन सदस्य है. टिकटोक के लिए अमेरिका तीसरा सबसे बड़ा बाजार है . भारत , हॉंकॉंग , के बाद अगर अमेरिका में भी अगर टिकटोक पर प्रतिवंध लगा दिया गया तो ये टिकटोक के पतन की शुरुआत हो चुकी ऐसा समझना चाहिए


EmoticonEmoticon