-->

सर्दिओं में अलसी क्यों खाते हैं | alsi ke fayede or nuksan alsi ke fayde bataiye

 सर्दिओं में अलसी क्यों खाते हैं . अलसी के  फायदे सेहत, त्वचा और बालों के लिए हैं सही मात्रा में अलसी के बीज  का सेवन करने से बहुत  फायदे मिलते हैं , जैसे कि  कोलेस्ट्रॉल को कामकरने में , ब्लड प्रेशर कंट्रोल, वजन कम करने में मदद, चमकदार  त्वचा, स्वस्थ मजबूत बाल आदि. आज से नहीं हजारों सालो से भारत में अलसी का प्रयोग किया जा रहा हैं , ज्यादातर लोग नहीं जानते की अलसी का प्रयोग सर्दिओं में ही क्यों किया जाता हैं . क्या गर्मिओ में भी अलसी कहानी चाहिए यां नहीं .


alsi ke beej flaxseed hindi


अलसी इतनी गुणकारी क्यों है 

अलसी के बीज  में अनेक प्रकार के पौष्टिक  तत्व पाए जाते हैं, अलसी में calcium, protein , विटामिन सी, विटामिन बी 6, मैग्नीशियम, ओमेगा 3 फैटी एसिड, पोटैशियम, iron , कार्बोहाइड्रेट, energy, फास्फोरस, जिंक, कॉपर, सोडियम, मैगनीज, विटामिन-ई, विटामिन डी, विटामिन-के, राइबोफ्लेविन, नियासिन, थियामिन आदि  पाया जाता है . अलसी में फाइबर की अधिक मात्रा  होती है ये फाइबर आपकी आंत की सोखने की क्षमता बढाते हैं, जिससे पाचन क्रिया अच्छे से होती है और जिस कारन कबज भी नहीं होता .

अलसी क्या होती है what is flax seed

flax seed को हिंदी में अलसी कहते है  आपको ये जान कर हैरानी होगी   की  जो पौष्टिक तत्व मछली में पाए जाते है वही तत्व अलसी के बीजों से प्राप्त किये जातें है ,अलसी  के वीज भूरे और चिकने होते है .इसमें ओमेगा 3 फट्यो एसिड  बहुत ज्यादा होता है इसके इलावा और भी बहुत सारे पौष्टिक तत्व अलसी से प्राप्त होते है  .

अलसी का उपयोग कैसे करें 

अलसी को कई तरीके से खाया जा सकता है जैसे कि  दाल के ऊपर  डालकर, सब्जी  में मिलाकर, अलसी की चाय, दहीं  में डालकर, ड्राई फ्रूट्स में मिलाकर आदि. अलसी के सेवन से सर्दिओं में गर्मी का अहसास होता है 

alsi ka powder kaise banaye

अलसी के बीजों को हल्का भून कर बारीक चूरन बना लें , ध्यान रहे की अलसी के वीज कच्चे नहीं रहने चाहिए . अच्छी तरह भून कर  फिर पीसने के बाद उसमे थोड़ा सा नमक मिला लें इससे खाने में स्वाद लगता है . अलसी का सेवन एक समय में  कभी भी दो चुटकी से ज्यादा नहीं करना चाहिए .

बुढ़ापे में भी लाभकारी 

अलसी का नियमित रूप से सेवन करने से  शरीर की धमनियां टाइट नहीं होती है. शरीर में लचक बानी रहती है . हमारे खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है.अलसी खून में इन्सुलिन की मात्रा को बढनें से भी रोकता है.

alsi ke fayde for hair

अलसी का सेवन करने से आपके बालों में रुसी (डैंड्रफ) जैसी समस्याएं भी खत्म हो जाती है.बाल स्वस्थ और मजबूत बनते हैं .

दिल के मरीज के लिए  लाभकारी 

अलसी में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड और अमीनो एसिड  ब्लड प्रेशर को कम रखते हैं. इसके अलावा अलसी के सेवन से शरीर से फालतू कोलेस्ट्रॉल और चर्वी ख़तम हो जाती है और अलसी धमनियों पर कुछ भी (fat )जमने से रोकता है.जब धमनियों पर कुछ भी नहीं जमता है, तब रक्त का प्रवाह आसान हो जाता है। इससे दिल से सम्बन्धी बीमारियों से भी राहत मिलती है।

स्किन के लिए अलसी के फायदे  - alsi ke fayde for skin

अलसी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट ,फाइटोकेमिकल्स उम्र को बढ़ने से रोकती हैं और बढ़ती   उम्र के लक्षण   कम होने लगते हैं ,चेहरे की झुर्रियां बढ़ती उम्र के लक्षण दूर हो जाते हैं चेहरा कांतिमान हो जाता हैं  .इसके इलावा अलसी में अल्फ़ा लीनोइक भी पाया जाता हैं .जो कैंसर से लड़ने में सहायक होता हैं . अलसी के बीजों को  एंटीएजिंग एजेंट के तोर पर जाना  जाते हैं .इसके इलवा अलसी से एंटी ट्यूमर   ,एंटीफंगल, एंटीहाइपरटेन्सिव, एंटीडायबिटिक, एंटीट्यूमर, एंटीथ्रोम्बिक  के लाभ मिलते है .

अलसी करती है  ट्यूमर  को कम  alsi for tumor 

अलसी में ओमेगा ३ फटी एसिड और फाइबर भरपुर मात्रा में होता हैं  इस लिए जो लोग मछली नहीं खाते उनके लिए अलसी का  सेवन उचित मात्रा में करना चाहिए .अलसी में मौजूद ओमेगा ३ फटी एसिड   के सेवन से शरीर में ट्यूमर  का साइज घटने लगता हैं , क्यों की ओमेगा फटी एसिड खराब  सेल  को दूसरे  स्वस्थ  सेल  के साथ  चिपकने  से रोकता  हैं  

शरीर से बड़ी हुयी चर्वी कम करे reduce high cholesterol 

flaxseed के सेवन से हाई कोलेस्ट्रॉल कम होने लगता हैं , जिन्हे  हाई   कोलेस्ट्रॉल के कारन   हार्ट  बीट  ज्यादा   रहती  हैं अगर   वो लोग अलसी के बीजों  के पाउडर का  सेवन कुछ दिनों तक लगातार करें तो  दिल  की धड़कन   सामन्य   हो जाती   हैं  .अलसी ब्लड प्रेसर को कम करती है .

alsi ke beej for weight loss in hindi अलसी बजन कम करे 

अगर आप बजन कम करने की कोई दवाई खोज रहे है तो आपको अलसी का सेवन उचित मात्रा में करना  चाहिए क्यों की इसके सेवन  से कोलेस्ट्रॉल कम होता  जाता है , और शरीर से फालतू की फैट भी निकल जाती है . बड़ा हुया पेट अंदर चला जाता है .

alsi ke beej ke fayde for breast

जैसे की हमने बताया की अलसी खाने से ट्यूमर कम हो जाता है , अगर किसी महिला के छाती में गाँठ है तो इसके सेवन जरूर करे क्यों की ये शरीर के किसी भी हिस्से से ट्यूमर और गांठ हो ख़तम करने में सहायक होती है  .

अलसी के तेल का सेवन कैसे करें 
अलसी के तेल सेवन भोजन पकाने में नहीं किया जाता , परन्तु आप अलसी के तेल को खाना कहते समय दो चार बूँदें भोजन में मिलकर खा सकते है. तेल का अति शीघ्र लाभ मिलता है . इस लिए सबधाणी पूर्वक अलसी के तेल का सेवन करना चाहिए 

जोड़ों के दर्द  के लिए अलसी  joint pain me fayede 

जोड़ों के दर्द या गठिया में भी अलसी  बहुत काम करता है. अलसी तेल से जोड़ों के दर्द में लाभ होता है.  अलसी के तेल को गर्म कर, शुंठी का चूर्ण मिला लें. इससे मालिश करने से कमर दर्द, तथा गठिया में आराम मिलता है .

अलसी के नुकसान  [ alsi khane ke nuksan ] alsi ke nuksan 


अलसी के बीजों के जो  फायदे है उनको आपने समझ लिया लेकिन अब मई आपको बता देता हूँ की अगर अलसी का प्रयोग अधिक मात्रा में किया जाये यां कच्ची अलसी का प्रयोग किया जाये तो इस से  पेट से जुडी  समस्या भी हो सकती है , और घबराहट और बेचैनी जैसे लक्षण भी देखने को मिलते है . आईये जानते है अलसी के नुक्सान क्या क्या है .

Flax seeds for women 

अलसी में लिगनिन पाया जाता है जो महिलाओं के पीरियड को सामान्य लेन में सहायक होता है.इसके सेवन से पीरियड के दौरान उठनें वाले दर्द को कम करने में  मदद करता है।

 flax seed for diabetes  in hindi 

1 )..अलसी की तासीर गर्म होनें की वजह से इसका सेवन सर्दिओंमे किया जाता है और यह शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है जिससे रक्त में इन्सुलिन की मात्रा नियंत्रित रहती है. 

1 )..अलसी का सेवन गर्मिओ में न करें . क्यों की इसकी  तासीर गर्म होती है .
2 )..अलसी खून को पतला करती है ! इस लिए इसके साथ खून  को पतला करने वाली कोई दवाई न खाएं .
3 )..अलसी शरीर से कोलेस्ट्रॉल को कम करती है , इस लिए एसई कोई दवाई का सेवन इसके साथ न करें जो कोलेस्ट्रॉल को कम करती हो . 
4 )..गर्भवती महिलाएं अलसी का सेवन न करें तो बेहतर है . क्यों की इसके सेवन से महिलाओं के हॉर्मोन में बदलाब आता है और माहमारी आ सकती है ..
5 )..हाई ब्लॉग्ड प्रेस्सर वाले मरीज अलसी का सेवन न करें .
6 )..खली पेट अलसी कभी न खाएं अन्यथा आपको एसिडिटी हो सकती है 
7 )..कच्ची अलसी का सेवन न करें अन्यथा पेट में जलन हो सकती है बेचैनी हो सकती है .
8 )..अलसी के तेल का इस्तेमाल खाना बनाने के लिए ना करें.
final words:- 
अलसी के सेवन और स्वाथ्य सम्बन्धी और अधिक जानकारी के लिए अपने कसीस नज़दीकी डॉक्टर से मिलें या हमसे संपर्क करने के लिए कमेंट करें 


EmoticonEmoticon