-->

Friday, March 12, 2021

author photo

 मुनक्का की अधिकता होनेके कारण इस आसव के गुण भी द्राक्षासव और द्राक्षारिष्ट के समान ही है , इस लिए अधिक जानकारी के लिए जरूर पढ़ें चितचंदिरासव  के  फायदे    chitchandirasav uses side effect dosage 

chitchandirasav in hindi ke fayede


के घटक द्रव्य  chitchandnasav ingredients  in hindi 

नागरमोथा   36  ग्राम 

काली मिर्च   36  ग्राम 

चव्य     36  ग्राम 

चित्रक मूल    36  ग्राम 

हल्दी     36  ग्राम 

पीपल    36  ग्राम 

वायवडिंग   36  ग्राम 

आमला   36  ग्राम 

उशीर   36  ग्राम 

छरछरीला   36  ग्राम 

सुपारी   36  ग्राम 

लोध्र   36  ग्राम 

कुटकी    36  ग्राम 

पत्रज   36  ग्राम 

सफ़ेद चन्दन    36  ग्राम 

तगर    36  ग्राम 

जटामांसी   36  ग्राम 

दालचीनी    36  ग्राम 

लौंग   36  ग्राम 

गोदन्ती    36  ग्राम 

नागकेसर   36  ग्राम 

धाय के फूल   384  ग्राम 

मुन्नका   2.190  ग्राम 

पुराण गुड़  11.196 ग्राम 


सेवन और उपयोग विधि :-

1 तोला  से 2  तोला तक बराबर जल मिलाकर भोजन से  2  घंटे  बाद दिन में दो बार सभा शाम 


चितचंदिरासव  के फायदे 

  1. इस आसव में मुनक्का प्रधान होने के कारण ये बहुत अधिक बल कारक है ,
  2. चितचंदिरासव  के सेवन से कबज का नाश होता है .
  3. इस आसव के सेवन से शरीर में ताकत की वृद्धि होती है 
  4. चितचंदिरासव से  मंदाग्नि का नाश होकर पाचन क्रिया तेज  हो जाती है 
  5. इस आसव के सेवन से  खांसी - कास  राजक्ष्मा  रोग नष्ट हो जाते हैं
  6. चितचंदिरासव से मंदग्नि मूत्रविकार .आदि रोग नष्ट हो जाते हैं .


मुनक्का की अधिकता होनेके कारण इस आसव के गुण भी द्राक्षासव और द्राक्षारिष्ट के समान ही है , इस लिए अधिक जानकारी के लिए जरूर पढ़ें 


This post have 0 komentar


EmoticonEmoticon

Next article Next Post
Previous article Previous Post