-->

भगवान शिव के भजन लिरिक्स shiv bhagwan bhajan likhe huye


tan mera mandir or man hai shivala isme vasa hai ji damru vala


shiv wallpaper shayari


तन मेरा मंदिर और मन है शिवाला ,

इसमें बसा है जी बस डमरू वाला,

दिन रात जपता हु बस  उसकी माला,

इसमें बसा है जी डमरू  वाला,


मुझको ना जाने ये क्या हो गया है,

उसकी गली में दिल खो गया है,

ना जाने कैसा ये jadu ढाला,

इसमें बसा है जी डमरू  वाला,


भोले के संग कैसी लागी लगन है 

आई न नींदिया लगे भूख कम है,

ना पियु पानी न शुहू निवाला 

इस में बसा है जी डमरू वाला,


देखा यहाँ तक नजर मेरी जाये

 भोला ही भोला नजर मुझको आये,

रहता है आँखों में उसका उजाला 

इस  में बसा है जी डमरू वाला,


Jo Shiv Ko Dhyate Hain Lyrics in Hindi


 

ॐ नमः शिवाय

ॐ नमः शिवाय


जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं

(जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं)

जो शिव में खो जाते हैं

जो शिव में खो जाते हैं

शिव उनके हैं

जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं

(जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं)


शिव को ना गर्ज कोई

छोटी बड़ी बात से

शिव तो हैं खुश होते

भवाना की बात से

मानव हैं पाते उसे निश्चय से जप से

दानव वरदान लेते बरसों के तप से

(दानव वरदान लेते बरसों के तप से

दानव वरदान लेते बरसों के तप से)


जो श्रदा दिखाते हैं, जो श्रदा दिखाते हैं

शिव उनके हैं

जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं

(जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं)


निष्ठा का दूध और जल उनको भाये रे

मेवा अभिमान का न उनको रिजाये रे

रावन ने पाई जिनसे सोने की लंका है

उन की दयालता पे हमको न शंका है

(उन की दयालता पे हमको न शंका है

उन की दयालता पे हमको न शंका है)


जो शिव के हो जाता हैं जो शिव के हो जाता हैं


जो शिव के हो जाता हैं

जो शिव के हो जाता हैं

शिव उनके हैं

जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं

(जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं)


शिव ही शिवालय में शिव ही कैलाश में

शिव तो हैं भक्तों के मन के विश्वास में

शिव को न पाया जाए ऊँचे दिमागों से

बंध जाते प्रेम के कच्चे ही धागों से

(बंध जाते प्रेम के कच्चे ही धागों से

बंध जाते प्रेम के कच्चे ही धागों से)


जो प्रेम बढ़ाते हैं

जो प्रेम बढ़ाते हैं शिव उनके हैं

जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं

(जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं)


जो शिव में खो जाते हैं

जो शिव में खो जाते हैं

शिव उनके हैं

(जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं

जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं

जो शिव को ध्याते हैं, शिव उनके हैं)


जय शिव शम्भू भोलेनाथ

जय शिव शम्भू भोलेनाथ

(जय शिव शम्भू भोलेनाथ

जय शिव शम्भू भोलेनाथ

जय शिव शम्भू भोलेनाथ

जय शिव शम्भू भोलेनाथ)

घुट रही भोले तेरी भांग सोने के लोटे मे


घुट रही भोले तेरी भांग सोने के लोटे मे

सोने के लोटे मे चांदी के लोटे मे

घुट रही भोले तेरी भांग सोने के लोटे मे


भांग पीने भोले भ्रमा जी आए 

भ्रमा जी आए संग विष्णु को लाए

हमे भी पिला दो थोड़ी भांग सोने के लोटे मे

घुट रही भोले तेरी भांग सोने के लोटे मे


भांग पीने भोले रामा  जी आए 

रामा जी आए संग लक्ष्मण को लाए

हमे भी पिला दो थोड़ी भांग सोने के लोटे मे

घुट रही भोले तेरी भांग सोने के लोटे मे


भांग पीने भोले कान्हा जी आए 

कान्हा जी आए संग दाऊ को लाए

हमे भी पिला दो थोड़ी भांग सोने के लोटे मे

घुट रही भोले तेरी भांग सोने के लोटे मे


भांग पीने भोले सतगुरु  जी आए 

सतगुरु जी आए सारी संगत को लाए

हमे भी पिला दो थोड़ी भांग सोने के लोटे मे

घुट रही भोले तेरी भांग सोने के लोटे मे




भक्त शिव का चला शिव को मनाने के लिए


भक्त ऐक शिव का चला शिव को मनाने के लिए

हाथ मै 2 फूल लोटा, जल चढ़ाने के लिए

भक्त ऐक शिव का चला शिव को मनाने के लिए


भक्‍त जब मंदिर मै पहुँचा जल चढ़ाने के लिए

हाथ जब ऊपर उठाया घंटा बजाने के लिए

भक्त ऐक शिव का चला शिव को मनाने के लिए


देख कर सोने का घंटा पाप दिल मै आ गया

हो गया तैयार फौरन घंटा चुराने के लिए

भक्त ऐक शिव का चला शिव को मनाने के लिए


बांध कर धोती कमर मै हाथ दिल पर रख लिया

चढ़ गया शिव जी के ऊपर घंटा चुराने के लिए

भक्त ऐक शिव का चला शिव को मनाने के लिए


देख कर शिव जी ये समझे भक्‍त है सच्चा मेरा

हो गए तैयार फौरन वरदान देने के लिए

भक्त ऐक शिव का चला शिव को मनाने के लिए


देख कर ये भक्‍त समझा कोई यहां पर आ गया

हो गया तैयार फौरन भाग जाने के लिए

भक्त ऐक शिव का चला शिव को मनाने के लिए


आगे आगे भक्‍त भागे पीछे भोला भाग रहे

भोला पुकारे रुक जा मुसाफिर वरदान पाने के लिए

भक्त ऐक शिव का चला शिव को मनाने के लिए

फूल तो दुनिया चढ़ाए तू तो सारा चढ़ गया

शेष अब क्या रह गया मुझ पे चढ़ाने के लिए


ऐक तो दर्शन प्रभु जी आपके हो गए

दूसरे सोने का घंटा जीवन बिताने के लिए


O Shankar Mere Lyrics in Hindi


जीवन पथ पर शाम सवेरे

छाए हैं घनघोर अँधेरे


आ… आ…


ओ शंकर मेरे

कब होंगे दर्शन तेरे

ओ शंकर मेरे कब होंगे दर्शन तेरे


जीवन पथ पर शाम सवेरे

जीवन पथ पर शाम सवेरे

छाए हैं घनघोर अँधेरे

ओ शंकर मेरे

कब होंगे दर्शन तेरे


मैं मूरख तू अंतर्यामी

मैं मूरख तू अंतर्यामी

मैं सेवक तू मेरा स्वामी

मैं सेवक तू मेरा स्वामी

काहे मुझसे नाता तोड़ा

मन छोड़ा

मंदिर भी छोड़ा

कितनी दूर कितनी दूर

लगाये तूने

जाके लाश पे डेरे

ओ शंकर मेरे

कब होंगे दर्शन तेरे


तेरे द्वार पे ज्योत जगाते

तेरे द्वार पे ज्योत जगाते

युग बीते तेरे गुण गाते

युग बीते तेरे गुण गाते

ना मांगू मैं हीरे मोती

मांगू बस थोड़ी सी ज्योति

खाली हाथ न जाऊँगा मैं


खाली हाथ न जाऊँगा मैं

दाता द्वार से तेरे

ओ शंकर मेरे कब

होंगे दर्शन तेरे


कब होंगे दर्शन तेरे

हे…

कब होंगे दर्शन तेरे

हे…

कब होंगे दर्शन तेरे

कब होंगे दर्शन तेरे


Post a Comment

और नया पुराने