-->

अरे द्वारपालों कहना से कह दो are dvarapalo krishan bhajan lyrics

 देखो देखो यह गरीबी, यह गरीबी का हाल,

कृष्ण के दर पे यह विशवास ले के आया हूँ।

मेरे बचपन का दोस्त हैं मेरा श्याम,

येही सोच कर मैं आस ले कर के आया हूँ ॥


अरे द्वारपालों कहना से कह दो,

दर पे सुदामा गरीब आ गया है।

भटकते भटकते ना जाने कहाँ से,

तुम्हारे महल के करीब आ गया है॥


ना सर पे हैं पगड़ी, ना तन पे हैं जामा

बतादो कन्हिया को नाम है सुदामा।

इक बार मोहन से जाकर के कहदो,

मिलने सखा बदनसीब आ गया है॥


सुनते ही दोड़े चले आये मोहन,

लगाया गले से सुदामा को मोहन।

हुआ रुकमनी को बहुत ही अचम्भा,

यह मेहमान कैसा अजीब आ गया है॥


और बराबर पे अपने सुदामा बिठाये,

चरण आंसुओं से श्याम ने धुलाये।

न घबराओ प्यारे जरा तुम सुदामा,

ख़ुशी का समा तेरे करीब आ गया है।

dekho dekho yah gareebee, 

yah gareebee ka haal,

 krshn ke dar pe yah 

vishavaas le ke aaya hoon.


 mere bachapan ka dost

 hain mera shyaam, 

yehee soch kar main aas

 le kar ke aaya hoon . 


are dvarapalon

 kahana se kah do, 

dar pe sudaama

 gareeb aa gaya hai. 


bhatakate bhatakate 

na jaane kahaan se, 

tumhaare mahal ke

 kareeb aa gaya hai.


 na sar pe hain pagadee,

 na tan pe hain jaama

 bataado kanhiya ko naam

 

hai sudaama. 

ik baar mohan se

 jaakar ke kahado, 

milane sakha 

badanaseeb aa gaya hai.


 sunate hee dode 

chale aaye mohan,

 lagaaya gale se 

sudaama ko mohan.


 hua rukamanee ko 

bahut hee achambha, 

yah mehamaan 

kaisa ajeeb aa gaya hai. 


aur baraabar pe

 apane sudaama bithaaye,

 charan aansuon se

 shyaam ne dhulaaye.


 na ghabarao pyaare jara 

tum sudaama, khushee

 ka sama tere kareeb aa gaya hai.

और नया पुराने