-->

हर सांस में हर बोल में हरि नाम की झंकार है har bol mein hari naam kee jhankaar hai

 हर सांस में हर बोल में

हर सांस में हर बोल में 

हरि नाम की झंकार है .


हर नर मुझे भगवान है 

हर द्वार मंदिर द्वार है ..


ये तन रतन जैसा नहीं

 मन पाप का भण्डार है .


पंछी बसेरे सा लगे 

मुझको सकल संसार है ..


हर डाल में हर पात में

 जिस नाम की झंकार है .


उस नाथ के द्वारे तू 

जा होगा वहीं निस्तार है ..


अपने पराये बन्धुओं का


 झूठ का व्यवहार है .

मनके यहां बिखरे हुये 


प्रभु ने पिरोया तार है ..

हर सांस में हर बोल में


हर सांस में हर बोल में 

हरि नाम की झंकार है .


हर सांस में हर बोल में   हरि नाम की झंकार है


har saans mein har bol mein

 har saans mein 

har bol mein hari 

naam kee jhankaar hai 


. har nar mujhe 

bhagavaan hai 

har dvaar

 mandir dvaar hai 


 ye tan ratan

 jaisa nahin 

man paap ka

 bhandaar hai .


 panchhee basere 

sa lage mujhako 

sakal sansaar hai ..


 har daal mein har

 paat mein jis

 naam kee jhankaar hai . 


us naath ke

 dvaare too ja 

hoga vaheen nistaar hai ..


 apane paraaye

 bandhuon

 ka jhooth ka


 vyavahaar hai .

 manake yahaan

 bikhare huye 

prabhu ne piroya 

taar hai ..


 har saans mein 

har bol mein

 har saans mein

 har bol mein

 hari naam kee

 jhankaar hai .

और नया पुराने