-->

12 राजकुमारियों की कहानी

 



यह 12 राजकुमारियों की कहानी है। जिसमे वह रात भर नृत्य करती है लेकिन कहाँ और कैसे किसी को नहीं पता। आइये देखते है की इस राज़ का पर्दाफाश किसने और कैसे किया।  


एक समय की बात है। एक राजा था जिसकी 12 बेटियाँ थी। सभी राजकुमारियाँ  सुन्दर थी शादी के लायक भी हो गयी थी। तभी राजा को एक बात पता चलती है कि उसकी सारी बेटियाँ रात भर नाचती है। मगर कहाँ और कैसे ये किसी को नहीं पता था। राजा बहुत कोशिश करता है मगर पता नहीं लगा पाता राजा थक हार के एलान करता है कि :-


राजा :- जो कोई भी इस राज़ का पता लगाएगा, वह अपनी मनपसंद राजकुमारी से शादी कर सकता है। अगर वह इस बात का पता दो दिन में ना लगा पाया तो वो सजा का हक़दार होगा। यह बात आग की तरह चारों तरफ फ़ैल गयी। तभी पड़ोसी राज्य से एक राजकुमार आया और बोला :-


राजकुमार :- राजा जी, अगर आपकी अनुमति हो तो क्या मैं इस राज़ का पता कर सकता हुँ। 



राजा उसका स्वागत करता है और उसे राज़ का पता लगाने  दे देता है। रात के भोजन के बाद राजकुमार अपने कमरे में चला जाता है। उसका कमरा उन 12 राजकुमारियों के कमरे के पास में ही था ताकि वो उनपे नज़र रख सके। वह राजकुमारियों पे लगातार नज़र बनाये हुए था। तभी एक राजकुमारी उसके कमरे में आती है और उसे शरबत पीने को देती है। राजकुमार शरबत पी लेता है। थोड़ी देर बाद उसका सर घूमने लगता है। वो सो जाता है। 



सुबह वो उठता है तो देखता है कि 12 राजकुमारियाँ नाँच के वापिस आ चुकी होती है। ऐसे ही दो दिन हो जाते है लेकिन वो राज का पता नहीं लगा पाता। राजा ने भी उसपे दया नहीं दिखाई और उसे कारावास में भेजने का आदेश दे दिया। ऐसे ही बहुत लोग आते है मगर राजा सबको कारावास में भेज देता है। 



कुछ दिनों बाद एक सैनिक राजमहल की तरफ जा रहा था। तभी उसे रास्ते में एक बूढ़ा मिलता है। वह बहुत सारा सामान ले कर जा रहा था। वो सैनिक उसकी मदद करता है और उसे उसके घर छोड़ देता है। फिर वह बूढ़ा उससे पूछता है :-


बूढ़ा :-अरे बेटा, तुम कहा जा रहे हो?


सैनिक :- मैं इस नगर के राजमहल जा रहा हुँ।


बूढ़ा :- राजकुमारियों के नाच का पता लगाने?


सैनिक :- हां।


बूढ़ा :- बेटा, बस तुम शरबत मत पीना जो 12 राजकुमारियाँ तुम्हे देंगी और ये लो जादुई चादर। इसे पहन के तुम अद्रिश्य हो जाओगे और किसी को दिखाई नहीं डोगे बेटा।



सैनिक वह चादर ले कर महल की तरफ बढ़ता है। रात के भोजन के बाद उसे कमरे में छोड़ दिया जाता है। जो कमरा राजकुमारियों के कमरे के पास में होता है। थोड़ी देर बाद सबसे बड़ी राजकुमारी उसके कमरे में आती है।


राजकुमारी :- यह शरबत आपके लिए हमारी तरफ से।


सैनिक :- जी राजकुमारी।



सैनिक वो शरबत पी लेता है लेकिन निगलता नहीं है और सोने का नाटक करता है। राजकुमारी खुश हो कर वह से चली जाती है


राजकुमारी :- चलो मेरी बहनो, अब हम नाच के लिए चल सकते है।



राजकुमारिया अपने पलंग को धक्का देती है तो एक सुरंग दिखाई देती है। सभी राजकुमारियाँ उस सुरंग के अंदर चली जाती है। सैनिक ये सब देख लेता है और चादर पहन के उनके पीछे चलने लगता है। थोड़ी देर बाद एक नदी आती है। सैनिक देखता है कि वहा 12 नावों में 12 राजकुमार राजकुमारियों का इंतज़ार कर रहे थे।  राजकुमारियाँ एक-एक करके अपनी अपनी नाव में बैठती है और राजकुमार नाव चलाना शुरू करते है। सैनिक भी एक नाव में बैठ जाता है। नाव चलाते वक़्त राजकुमार बोलता है :-


राजकुमार :- अरे! आज नाव कुछ ज़्यादा भारी लग रही है।



थोड़ी देर बाद एक महल आता है। सब लोग महल के अंदर जाते है और राजकुमारियाँ अपने-अपने राजकुमारों के साथ नृत्य करती है। सैनिक यह सब देख रहा होता है। पूरी रात नाच चलता है। फिर सब महल के बाहर निकलते है और वापिस नाव में बैठते है और सारे राजकुमार राजकुमारियों को नदी के किनारे छोड़ देते है। राजकुमारिया सुरंग से अपने कमरे में वापिस पहुंच जाती है। सैनिक भी अपने कमरे में आ कर सो जाता है। सुबह सैनिक को राजदरबार में बुलाया जाता है। सैनिक राजा को सब-कुछ बता देता है। राजा राजकुमारियों को बुलवाता है।


राजा :-  क्या यह सच कह रहा है?


राजकुमारियाँ :- हां, पिता जी।



राजा मुस्कुराता है और सैनिक से पूछता है :-


राजा :- तुम मेरी किस बेटी से शादी करना चाहते हो?


सैनिक :- सबसे बड़ी राजकुमारी से।



राजा दोनों की शादी बड़े धूम-धाम से करा देता है। फिर वो दोनों ख़ुशी-ख़ुशी रहते है।





कहानी की सीख :-  कोई भी राज़ ज़्यादा वक़्त तक छुपा नहीं रह सकता है। कभी न कभी वह बाहर आ ही जाता है।


हमें कमेंट करके बताये की आपको ये प्रिंसेस की कहानी कैसी लगी | हिंदी कहानिया 4 किड्स आपके लिए ऐसी ही अच्छी-अच्छी कहानियाँ लाता रहेगा | 

Related Posts

एक टिप्पणी भेजें